मोहब्बत-ए-क़िस्सा 🔥


Гео и язык канала: Индия, Английский
Категория: Искусство


Ads policy :-
https://telegra.ph/Rulea-for-subscriber-04-09
Cross & Paid Promotion:- @Kp14322 @Kartikk_18

Связанные каналы  |  Похожие каналы

Гео и язык канала
Индия, Английский
Категория
Искусство
Статистика
Фильтр публикаций


चुपके से भेजा था एक गुलाब उनको
खुशबू ने सारे शहर में तमाशा बना दिया....!!

·—·—·—·—🖤🖤—·—·—·—·


❝ कल बुरा था ,
आज अच्छा आएगा
वक्त ही तो है ..
रुक थोड़ी ना जाएगा ..!! ❜❜


😊❤️‍🩹🙆


मैं सुधर सुधर के सुधरा हूं..!!
मैं फिर से बिगड़ जाऊंगा..!!
तुम पूछोगे की कैसे हो.!!
मैं इश्क में पड़ जाऊंगा..!!
🤍🫶❤️‍🔥🌹🫰





कैसे हार मान लूं लोगों के ताने सुनकर
मैंने सब्र करना अपनी माँ से सीखा हैं ,

वो कहती हैं एक दिन सब ठीक हों जाएगा
तो हों जाएगा ....❗❕




💓🥹🫂.....


कभी कभी खुद की
बहुत याद आती है.....

कितना खुश रहा करता था मैं पहले...!!



कुछ रहम कर ऐ जिंदगी, थोड़ा संवर जाने दे ,

तेरा अगला जखम भी सह लेंगे, पहले वाला तो भर जाने दे....!!!


✨💔🥀🕊️


गलतियों से जुदा तू भी नहीं,

मैं भी नहीं"

दोनों इंसान है, ख़ुदा तू भी नहीं,

मैं भी नहीं"

तू मुझे और मैं तुझे इल्ज़ाम देते है मगर,
अपने अंदर झांकता तू भी नहीं,
मैं भी नहीं"

गलतफहमियों ने पैदा कर दी दोनों में दूरियां
वरना फितरत का बुरा तू भी नहीं
मैं भी नहीं"...✍️


मेरा किरदार बिना तेरे इश्क के जचेगा क्या,

खुद से तुम्हें हटा दूं तो मेरे पास कुछ बचेगा क्या..!!🥀


बिखरे हैं अश्क कोई साज नहीं देता..
खामोश हैं सब कोई आवाज नहीं देता..!

कल के वादे सब करते हैं
मगर क्यूं कोई साथ आज नहीं देता..!!
🖤🥀


मंजिल भी उसकी थी, रास्ता भी उसका था,

एक मैं ही अकेला था, बाकि सारा काफिला भी उसका था,

एक साथ चलने की सोच भी उसकी थी,

और बाद में रास्ता बदलने का फैसला भी उसी का था..!!


हम सुलझे हुए जरूर है... मगर...

       हमसे उलझने से परहेज़ कीजिए...!

....................❤️❤️❤️.................


एक वक्त ⌛️ गुजारा है ,
     एक गुजारना बाकी है...!

कुछ बिगड़ 🥺 गया,
       कुछ सुधारना 🫰 बाकी है...!

                🌹🌹🌹


भगा के तुझको आज ले जाऊँ,
मगर डर ये भी है की कही मुस्किले घर पे ना ला दु,
तू है मूजे पसंद, हा हूँ में तुम्हारी पसंद,
मगर डर ये भी है की कही ज़िंदगी उझाड़ ना दु,
हर लड़ाई लड़ भी लू तेरे एक वादे पे,
मगर डर ये भी ही की कही मुकर ना जाओ तुम,
है भरोसा कही बातों पे तुम्हारी,
मगर डर ये भी है की कही बदल ना जाओ तुम,
वाक़िफ़ है तमाम मुक़दमों से लड़े जाने वाले,
मगर डर ये भी है की बयान बदल तो ना दोगे तुम,
मगर डर ये भी है की सलाख़ों में घर का चिराग़ डाल तो ना दोगे तुम!

मगर डर ये भी है की कही ज़िंदगी उझाड़ ना दु।


जाने की जल्दी में
लोग अक्सर भूल जाते हैं
सब कुछ कहां ठीक से बंद कर पाते हैं...

कभी कोई खिड़की उम्मीद की
और कभी कोई दरवाजा इंतजार का...
ज़रा सा खुला ही छोड़ जाते हैं...


वो मुझे चराग की खैरात दे रहा है...
           
उसे बताओ मैं दिवाना चाँद ठुकरा के आया हूँ..🙃




चर्चाएं हो रही थी कि
      शादी की व्यवस्थाएं अच्छी नहीं थी...

उधर एक बाप लिख रहा था कि
     किसका कितना उधार बाकी है...!

                     ❤️‍🔥❤️‍🔥❤️‍🔥


उनके इश्क़ में मरने तक को तैयार थे हम,
इसी का लुफ्त उठाए वो सख़्स किसी और का हो गया। 🥲



सारी उम्र मैं जोकर जे बणेयाँ रेहा
तेरे पिछे ऐ ज़िन्दगी सर्कस हो गई!!!


मुझको छोड़ने की वजह तो बता देते..!!

मुझसे नाराज थे या मुझ जैसे हजारों थे..!!


किस तरह बनाएँ तुम्हारी यादों से दूरियाँ...

कदम, दो कदम जाकर सौ कदम लौट आते हैं...!!

Показано 20 последних публикаций.